अलीगढ़: ढाई साल मासूम की हत्या पर आक्रोश, जगह-जगह पर तैनात सुरक्षाकर्मी

75 views

न्यूज़ न्यूज़ I यूपी के अलीगढ़ में ढाई साल की मासूम की निर्मम हत्या के बाद लोगों में आक्रोश फूट पड़ा है। लोग सड़कों पर उतर कर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं और बच्ची के लिए इंसाफ की मांग कर रहे हैं। इसके चलते अलीगढ़ के टप्पल इलाके में सुरक्षा-व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। टप्पल में हालत कहीं बेकाबू न हो जाएं, इसे देखते हुए रविवार को दूसरे दिन भी सुरक्षा बलों ने फ्लैग मार्च किया। इस मामले में अबतक चार आरोपी को गिरफ्तार किया जा चुका है जिसमें एक महिला भी शामिल है जबकि पांच पुलिसकर्मियों को संस्पेंड कर दिया गया है।
एसपी ग्रामीण मणिलाल पाटीदार ने बताया कि पुलिस पूछताछ पर संतोष व्यक्त करते हुए महापंचायत रद्द कर दी गई है। कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए इलाके में सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की गई है।
ढाई साल की इस बच्ची को इंसाफ दिलाने के लिए पूरा देश उठ खड़ा हुआ है। कहीं कैंडल मार्च निकाला जा रहा है तो कहीं पुलता फूंका जा रहा है। लोगों ने आरोपियों के लिए मौत की सजा की मांग की। अलीगढ़ के अलावा यूपी के अलग-अलग जगहों पर भी घटना का विरोध-प्रदर्शन हुआ।
लखनऊ में कैंडल मार्च निकालकर मृत बच्ची के लिए न्याय की मांग की गई। इसी तरह मेरठ, मुजफ्फरनगर, बरेली, आगरा, लखीमपुर खीरी और दूसरे जिलों में भी प्रदर्शन किया गया। शनिवार को ही राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) ने अलीगढ़ के एसएसपी से मामले में जांच रिपोर्ट मांगी। ढाई साल की मासूम की निर्मम हत्या के खिलाफ अलीगढ़ में हिंदू महासभा के लोग भी सड़कों पर उतरे और मुस्लिम समाज भी अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्रों ने भी आरोपियों को सूली पर चढ़ाने की मांग की।
बता दें कि अलीगढ़ के टप्पल थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले बूढ़ा गांव में रहने वाली यह मासूम बच्ची 30 मई को अपने घर से लापता हो गई थी। जब खोजबीन करने के बाद बच्ची का कुछ पता नहीं चला, तो परिवार वालों ने बच्ची की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवा दी। 31 मई को बच्ची की हत्या कर दी गई।  इस घटना का खुलासा वारदात के 5 दिन बीत जाने के बाद तब चला, जब एक कूड़े के ढेर के पास से बच्ची की लाश मिली।

Share.

About Author

Pankaj Tyagi

Leave A Reply