ट्रंप: अमेरिकी हितों पर हमला हुआ तो ईरान को तबाह कर देंगे

38 views

वॉशिंगटन (न्यूज़ नेस्ट)। अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने ईरान को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि यदि उसने अमेरिकी हितों पर हमला किया तो उसे तबाह कर दिया जाएगा। अमेरिका और ईरान के बीच तनाव चरम पर है और ऐसे में ट्रंप के इस बयान से स्थिति और गंभीर हो सकती है।
ट्रंप ने रविवार को ट्वीट किया, ‘यदि ईरान लड़ाई लड़ना चाहता है तो उसका आधिकारिक तौर पर अंत हो जाएगा। आगे कभी अमेरिका को धमकी मत देना।’
वॉशिंगटन और तेहरान के बीच तनाव चरम पर है और अमेरिका ने एक कैरियर ग्रुप तथा बी-52 बॉम्बर को खाड़ी में तैनात कर दिया है। ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जावेद जरीफ ने IRNA न्यूज़ एजेंसी से कहा था, ‘कोई युद्ध नहीं होगा क्योंकि न तो हम लड़ाई चाहते हैं और न ही किसी को भ्रम है कि वह इस क्षेत्र में ईरान का सामना कर सकते हैं।’
इससे पहले अमेरिकी राजनयिकों ने आगाह किया था कि फारस की खाड़ी के ऊपर से गुजरने वाले कमर्शल विमानों को जोखिम का सामना करना पड़ सकता है। यह चेतावनी ऐसे समय में जारी की गई जब ईरान ने कहा था कि वह खाड़ी देशों में अमेरिकी जहाजों को आसानी से निशाना बना सकता है। गौरतलब है कि पहले भी ईरान कहता रहा है कि वह तेल की आपूर्ति के लिहाज से महत्वपूर्ण इस समुद्री मार्ग (हॉर्मूज जलडमरूमध्य) को बंद कर सकता है। दूसरी ओर सऊदी अरब के एक शीर्ष राजनयिक ने कहा कि उनका देश युद्ध नहीं चाहता, लेकिन वह ईरान के खिलाफ अपनी रक्षा कराने से हिचकिचाएगा नहीं। उनका यह बयान ऐसे वक्त आया है जब एक सप्ताह पहले संयुक्त अरब अमीरात के तट पर तेल के 4 टैंकरों को कथित तौर पर निशाना बनाया गया और ईरान समर्थित यमन के बागियों ने सऊदी अरब की तेल की पाइपाइन पर ड्रोन हमले का दावा किया था।
विदेश मामलों के राज्यमंत्री ने कहा, ‘सऊदी अरब क्षेत्र में युद्ध नहीं चाहता है और वह इसकी कोशिश नहीं कर रहा है… लेकिन अन्य पक्ष युद्ध चुनता है तो सऊदी अरब पूरी ताकत और प्रतिबद्धता के साथ इसका मुकाबला करेगा। अपनी, अपने नागरिकों और अपने हितों की रक्षा करेगा।’
ओबामा प्रशासन के समय में ईरान के साथ पी5+1 देशों, जर्मनी और यूरोपीय संघ की न्यूक्लियर डील पर सहमति बनी थी लेकिन राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के नेतृत्व वाली अमेरिका की नई सरकार इस डील से हट गई है। इसके बाद ईरान पर फिर से अमेरिका द्वारा कड़े प्रतिबंध लगा दिए गए हैं।

Share.

About Author

Pankaj Tyagi

Leave A Reply