मेरठ: आईपीएस पर पत्नी ने दर्ज कराया दहेज का मुकदमा

69 views

मेरठ (न्यूज़ नेस्ट)I दिल्ली में तैनात एक आईपीएस अधिकारी पर उनकी पत्नी ने गंभीर आरोप लगाते हुए मेरठ के थाना नौचंदी में मुकदमा दर्ज कराया है। आईपीएस की पत्नी का आरोप है कि पांच करोड़ रुपये के दहेज़ के लिए उनका पति उनके साथ बुरी तरह मारपीट करता है। पीड़िता ने अपने पति के दूसरी महिलाओं से संबंध होने के आरोप भी लगाए हैं। पुलिस एफआइआर दर्ज करके मामले की जांच कर रही है। एसपी सिटी आरोपी की गिरफ्तारी के लिए उच्च अधिकारियों से बातचीत करने की बात कह रहे हैं।
बताया गया कि 27 नवंबर 2015 को शास्त्रीनगर निवासी चरणदास सिंह की बेटी नम्रता का विवाह सुभाष नगर के रहने वाले अमित निगम पुत्र गंगाचरण निगम से हुआ था। अमित निगम 2015 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं और वर्तमान में दिल्ली स्थित पीएसी में अडिशिनल कमांडेंट है। नम्रता के अनुसार, उनके परिजन ने विवाह के समय ऑडी कार, जेवरात और अन्य सामान दिए थे। शादी के बाद से ही ससुराल में दहेज को लेकर उनका उत्पीड़न शुरू हो गया था।
आरोप है कि उनका पति 5 करोड़ रुपये के दहेज की मांग को लेकर उन्हें बुरी तरह से पीटता था। नम्रता का यह भी आरोप है कि उनके पति अमित के कई अन्य महिलाओं से भी संबंध है, जिसकी जानकारी उन्हें अमित के लैपटॉप और मोबाइल से मिली थी। इसका विरोध करने पर भी उनका पति पीटता था। नम्रता के अनुसार, उन्होंने कई बार अपने पति को यह समझाने का प्रयास किया कि इतनी रकम दे पाना उनके पिता की हैसियत से बाहर है लेकिन अमित उनकी कोई बात सुनने समझने को तैयार नहीं थे। इस दौरान उनके परिजन और रिश्तेदार यही समझाते रहे कि ‘अपना घर मत बिगाड़, जल्द ही अमित को अपनी गलती का अहसास हो जाएगा’ लेकिन बात बनने की जगह और बिगड़ती चली गई।
आरोप है कि 30 अप्रैल को अमित ने नम्रता को बुरी तरह पीटा, जिससे वह बेहोश हो गई। इसके बाद उन्हें कमरे में बंद करके अमित वहां से चले गए। होश में आने पर नम्रता अपनी एक सहेली के पास पहुंची और सारी बात की जानकारी दी। इसके बाद नम्रता ने पति और सास-ससुर के खिलाफ थाना नौचंदी में दहेज उत्पीड़न और मारपीट से संबंधित तहरीर दी। एसओ नौचंदी नीरज सिंह ने बताया कि नम्रता की तहरीर पर संबंधित धाराओ में 17 मई को ही मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। एसपी सिटी डॉ. अखिलेश नारायण सिंह के अनुसार, अमित निगम के खिलाफ उनकी पत्नी ने गंभीर धाराओं में केस दर्ज कराया है। मामले की जांच की जा रही है। आरोपी की गिरफ्तारी के लिए उच्च अधिकारियों से बातचीत की जाएगी।

Share.

About Author

Pankaj Tyagi

Leave A Reply