प्लेन से गिरा यात्री

44 views

लंदन ( न्यूज़ नेस्ट )। साउथ वेस्ट लंदन में एक शख्स अपने घर के बाहर बगीचे में धूप सेंक रहा था। अचानक तभी तेज आवाज के साथ उसके काफी करीब किसी आदमी का शव गिरा। धूप सेंक रहा आदमी डर गया। वह हैरान-परेशान हो गया। अगर शव उसके ऊपर गिरता तो मुमकिन था कि वह भी नहीं बचता। दरअसल, यह शव केन्या एयरवेज की फ्लाइट से गिरा था। वाकया रविवार का है। शव की शिनाख्त नहीं हो पाई है। प्लेन से गरने वाला शख्स संभवतः प्लेन के लैंडिंग गियर कंपार्टमेंट में छिपकर सफर कर रहा था।  एक चश्मदीद डेविड कार्माल्ट ने लंदन के सांध्य दैनिक लंदन इवनिंग स्टैंडर्ड को बताया, ‘हमारा पड़ोसी उस वक्त बगीचे में धूप सेंक रहा था। लाश और एक मीटर की दूरी पर गिरी। यह चमत्कार ही है कि कोई अन्य नहीं मरा।’ 
लंदन की मेट्रोपॉलिटन पुलिस ने सोमवार को ट्वीट कर बताया कि प्लेन से गिरे शख्स की पहचान की कोशिश की जा रही है। वह केन्या की राजधानी नैरोबी में केन्या एयरवेज की फ्लाइट KQ 100 में सवार हुआ था। शव इतना क्षत-विक्षत हो चुका था कि यह तक पहचान करना मुश्किल है कि वह किसी महिला का है या पुरुष का। पुलिस ने बताया कि प्लेन के लैंडिंग गियर कंपार्टमेंट में एक बैग, पानी और कुछ खाना मिला है। केन्या एयरवेज भी मामले की जांच कर रही है। 
प्लेन से किसी शख्स के गिरने की यह कोई पहली घटना नहीं है। दरअसल, अक्सर कुछ प्रवासी कहीं जाने की चाह या बेहतर जीवन की तलाश में प्लेन में किसी जगह छिप जाते हैं। ज्यादातर की इसी तरह गिरने से मौत हो जाती है। कुछ भाग्यशाली रहते हैं जो बच जाते हैं, हालांकि ऐसा बहुत ही कम बार होता है। 
इससे पहले भी लंदन में पेड़ों या दुकानों की छतों पर प्लेन से लोगों के शव गिरे हैं। कई गिरने से पहले ही प्लेन के कंपार्टमेंट में बेहद कम तापमान और ऑक्सिजन की कमी से दम तोड़ चुके होते हैं। 
2012 में अंगोला से आ रही ब्रिटिश एयरवेज की फ्लाइट से गिरने से जोस मातादा नाम के शख्स की मौत हुई थी। उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज नहीं हुई थी, इस वजह से उसकी शिनाख्त में 6 महीने लगे थे। ऐसे ही 2015 में जोहानिसबर्ग से लंदन आ रही ब्रिटिश एयरवेज की ही फ्लाइट से एक शख्स का शव साउथवेस्ट लंदन के रिचमंड स्थित एक दुकान की छत पर गिरा था। हालांकि, छिपकर सफर कर रहा एक अन्य शख्स बाद में प्लेन के पहियों के बीच में जिंदा मिला था। 

Share.

About Author

Pankaj Tyagi

Leave A Reply